बारिश के बावजूद भी विरोध प्रदर्शन रहा जारी 
RCF Protest Despite Rain

बारिश के बावजूद भी विरोध प्रदर्शन रहा जारी 

RCF Protest Despite Rain  आर.सी.एफ इंप्लाइज यूनियन ने

कर्मचारियों ने तीन दिवसीय धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन

भी जमकर नारेबाजी व रोष  प्रर्देषण

 प्रशासन की नीयत और नीति में बहुत बडा अंतर है – खालसा
हुसैनपुर, 27 जुलाई (कौड़ा)-आर.सी.एफ इंप्लाइज यूनियन ने कर्मचारियों की ज्वलंत मांगों के  तीन दिवसीय धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन बाबा साहब डॉ. भीम राव अंबेडकर चौक पर बारिश के बावजूद धरने को संबोधित करते हुए युवा नेता तरलोचन सिंह ,भरत राज,  संदीप ,सुखबीर ने कहा कि ड्राइवरों को वरिष्ठता के आधार पर वर्कशॉप में भेजने और सिविल विभाग के सभी इच्छुक कर्मचारियों को उत्पादन क्षेत्र में भेजने की मांगों को लेकर सांकेतिक संघर्ष की शुरुआत की गयी है ,तकनीकी योग्यता वाले कर्मचारी पिछले 10 साल से कार्यालयों और अन्य जगहों पर काम कर रहे हैं को कार्यशाला में भेजने,  और यदि प्रशासन अपने  अड़ियल रवैया का त्याग नहीं करता तो यह संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं हो जाती।

आरसीएफ में ठेकेदारी, आउटसोर्सिंग को बढ़ावा मिल सके और नौकरशाही अपनी जेबें भर सकें RCF Protest Despite Rain

 आरसीएफ इम्पलाईज यूनियन के प्रधान श्री परमजीत खालसा ने  उपस्थित संघर्षरत साथियों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रशासन की नीयत और नीति में बहुत बडा अंतर है। एक ओर जहां प्रशासन उत्पादकता बढ़ाने की अपील कर रहा है वहीं दूसरी ओर तकनीकी रूप से कुशल और युवा कर्मचारियों को कार्यशालाओं में भेजने में आनाकानी कर रहा है ताकि आरसीएफ में ठेकेदारी, आउटसोर्सिंग को बढ़ावा मिल सके और नौकरशाही अपनी जेबें भर सकें। उन्होंने कहा कि प्रशासन बार-बार कर्मचारियों की नई भर्ती से इंकार कर रहा है जो पढ़े-लिखे और कुशल युवाओं के जख्मों पर नमक छिड़कने के समान है।
युवाओं को रोजगार के लिए धरने प्रदर्शन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है
उन्होंने सवाल किया कि जब देश में बेरोजगारी की दर इतिहास में सबसे ज्यादा है और युवाओं को रोजगार के लिए धरने प्रदर्शन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है तो केंद्र सरकार और रेल प्रशासन के पास नई भर्ती से इनकार करने का कोई कारण नहीं है। उन्होंने कहा कि आरसीएफ एंप्लाइज यूनियन आरसीएफ और रेलवे में युवाओं की तत्काल भर्ती की पुरजोर मांग करती है ताकि युवा आरसीएफ, रेलवे और देश के विकास में अपना योगदान दे सकें और उनके सपने साकार हो सकें !
श्री खालसा ने अपने संबोधन के दौरान कहा – कि मौसम जितना मर्जी खराब हो जाए या बारिश हो जाए परंतु हम अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन से पीछे नही हटेंगे , साथ ही उन्होने कल यानि 28/07 को होने वाले धरना प्रदर्शन के बारे में जानकारी दी और कहा कि सुबह 7:०० बजे से दोपहर 12:00 बजे तक धरना दिया जाएगा इसके उपरात 12:00 से12:30 बजे तक गेट मीटिंग आयोजित की जाएगी ! श्री खालसा ने सभी कर्मचारियों से आह्वान किया कि यदि हमे अपने एवं अपने बच्चो के भविष्य एवं फैक्ट्री को बचाना है तो हमें भारी संख्या में धरना प्रदर्शन एवं गेट मीटिंग मे शामिल होना होगा ! स्टेज सक्रेटरी की भूमिका श्री जसपाल सेखों ने बखूबी निभाई !
 रोष प्रदर्शन में कामरेड सर्वजीत सिंह, हरविंदरपाल, प्रदीप सिंह, गुरतेज सिंह, तरलोचन सिंह, जसपाल सिंह सेखों, दलवारा सिंह, बाबा अजीब सिंह, शरणजीत सिंह, हरप्रीत सिंह, संदीप कुमार, रणबीर सिंह, अश्विनी कुमार, जगदीप जग्गू, गुरविंदर सिंह, हरदीप सिंह, सुखचैन सिंह, हरमनप्रीत सिंह, सुखबीर सिंह, विनोद कुमार, सुखदेव, विजय कुमार, रमनप्रीत, बलराम आदि विशेष रूप से शामिल थे।